ohm’s law with exanple

Ohm’s law:- Ohm’s law shows the relationship between current which is flowing in a conductor and the voltage which is applied at the terminals of that conductor. According to ohm’s law When the physical conditions like temperature etc. keeps unchanged , then the current flowing through a conductor is directly proportional to the voltage which […]

online simple interest questions(साधारण ब्याज प्रश्न)

Q.1 8000 रुपये का 12% ब्याज दर से 3 वर्ष का साधारण  ब्याज  कितना होगा ? (अ)  3600 (ब) 2400 (स) 960 (द) 2880 उत्तर द Q.2 कोई राशि तीन वर्ष मे 1488 रुपये हो जाती है तथा 5 वर्ष मे 1680 रु हो जाती है तो बताइये कितनी राशि थी? (a) 1000 (b) 1100 […]

question paper for cometitive exams like SSC,patwari,police,bank etc. in hindi language

(1)    एक बाइट (byte) मे बिट्स (bits) की संख्या होती है (a) 4 (b) 6 (c)  8 (d) 12 Ans c (2) एक किलो बाइट मे बाइट कि संख्या होती है (a) 512 (b) 1024 (c)  2048 (d) 4096 Ans b (3) RAM का तात्पर्य है (A) रेंडम एवेलेवल मेमोरी (B) राईट एवेलेवल मेमोरी (C) […]

full wave rectifier and bridge full wave rectifier(पूर्ण तरंग दिष्टकारी तथा पूर्ण तरंग सेतु दिष्टकारी)

पूर्ण तरंग दिष्टकारी(full wave rectifier) :- वह युक्ति(दिष्टकारी) जो इनपुट प्रत्यावर्ती धारा(AC) को पूर्ण रूप से दिष्ट धारा (direct current) मे परिवर्तित करती है उसे पूर्ण तरंग दिष्टकारी कहते हैं। पूर्ण तरंग दिष्टकारी परिपथ मे दो डायोड(diode) काम मे ले सकते है। दोनो डायोड चित्रानुसार परिपथ मे लगे होते हैं।

half wave rectifier(अर्ध तरंग दिष्टकारी) in hindi

अर्ध तरंग दिष्टकारी:- वह युक्ति(दिष्टकारी) जो केवल प्रत्यावर्ती धारा के आधे चक्र को ही दिष्ट धारा (direct current) मे परिवर्तित करती है उसे अर्ध तरंग दिष्टकारी कहते हैं। अर्ध तरंग दिष्टकारी परिपथ(circuit) मे केवल एक डायोड काम मे लेते है जैसा चित्र मे दिखाया गया है।

दिष्टकारी(rectifier) in hindi

दिष्टकारी(rectifier) :- वह युक्ति जो प्रत्यावर्ती धारा(alternating current ) को दिष्ट धारा (direct current) मे परिवर्तित करती है उसे  दिष्टकारी(rectifier) कहते है। तथा प्रत्यावर्ती धारा(alternating current ) को दिष्ट धारा (direct current) मे बदलने की प्रक्रिया को दिष्टीकरण(rectification) कहते है।

V-I characteristics of Diode (सन्धि डायोड का अभिलाक्षणिक V-I वक्र)

(V-I characteristics of Diode)सन्धि डायोड का अभिलाक्षणिक V-I वक्र:- अग्र अभिनति के लिये(for forward bias) :- जब डायोड(diode) अग्र अभिनति(forward bias) मे जुड़ा रहता है तो अवक्षय परत(deplation layer) की चौड़ाई (width)कम होती जाती है तथा इलेक्ट्रॉन(electron) व होल(hole) एक दूसरे के विपरीत दिशा(direction) मे गति(motion) करते है तथा डायोड मे धारा(current) प्रवाहित होती है यह धारा बाह्य […]

biasing of diode(p-n junction) in hindi

डायोड(p-n संधि)  से धारा(current) प्रवाहित(flow) करने के लिये बाह्य(external) बैटरी से जोड़ा जाता है  डायोड(p-n संधि) को बाह्य बैटरी से दो प्रकार से जोड़ा जा सकता है (1) अग्र अभिनति( forward bias) (2) उत्क्रम अभिनति( reverse bias) अग्र अभिनति( forward bias):- जब बैटरी का धनात्मक सिरा डायोड के p-भाग से तथा बैटरी(battery) का ऋणात्मक(negative) सिरा […]